मुख्य कार्य एवं दायित्व:-

    विभागीय दायित्व - यांत्रिकी योजना प्रकोष्ठ द्वारा जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीनीकरण मिषन, राजीव आवास योजना तथा अन्य परियोजनाओं हेतु नियोजन एवं स्वीकृत परियोजनाओं क्रियान्वित की जाती है।
 
जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीनीकरण मिषन (जेएनएनयूआरएम)ः  मिषन अंर्तगत दो उप-मिषन अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर एंड गर्वनेंस (यूआईजी) तथा बेसिक सर्विसेज फाॅर अर्बन पुअर (बीएसयूपी) कार्यरत है। उप मिशन यूआईजी अंर्तगत स्वीकृत परियोजनाओं की विवरण निम्नानुसार है:- 

1.    बी.आर.टीएस. पाॅयलट काॅरीडोर: परियोजनांतर्गत मिसरोद से बैरागढ़ 23.95 किमी बीआरटीएस पाॅयलट काॅरीडोर का निर्माण किया जा रहा है। इसमंे से मिसरोद से रीजनल रिसर्च लेबारेटरी सेक्षन का कार्य पूर्ण हो गया है। शेष भाग में कार्य प्रगति पर है।
   परियोजनंातर्गत हबीबगंज रेलवे ओवर ब्रिज तथा इंदिरा गाॅधी चैराहे पर फ्लाई ओवर का निर्माण कार्य प्रगति पर है। बीआरटी काॅरीडोर मार्ग पर 77 बस स्टाप का  निर्माण कार्य पी.पी.पी मोड पर किया जा रहा है। परियेाजना अंर्तगत राशि रू 23908.25 लाख का व्यय किया जा चुका है। 

2.    भोपाल नगर के लिए जल वितरण प्रणाली परियोजना: परियोजनांतर्गत 62 ओवर हैड टैंक तथा 1428 किमी वितरण नलिका बिछाये जाने का कार्य किया जा रहा है। उक्त के विरूद 14 ओवर हैड टैंक का निर्माण कार्य पूर्ण होकर जलप्रदाय प्रारम्भ कर दिया गया है। शेष ओव्हरहैड टैंक का कार्य प्रगति पर है। परियोजनातर्गत 98.50 किमी फीडर मेन तथा 750 किमी वितरण नलिकायें बिछायी चुकी है। 1.88 लाख उपभोक्ता मीटर हेतु कार्यादेष दिया जा चुका है। जिसमें 40 हजार मीटर लगाये जाने का कार्य किया जा चुका है। परियोजना अंर्तगत राषि रू 21618.50 लाख का व्यय किया जा चुका है। 

3.    नर्मदा जल आवर्धन परियोजना: परियोजनांतर्गत शाहगंज से भोपाल तक 75 किमी पाइप लाइन बिछायी गयी है। अहमदपुर में पंप हाउस तथा विधानसभा भवन के समीप मास्टर बैलेंसिंग सर्विस रिजर्वायर स्थापित किया जा चुका है। परियोजना का कार्य पूर्ण हो चुका है तथा भोपाल नगर को माह जुलाई 2011 से शुद्व पेयजल प्राप्त होने लगा है। परियोजना अंर्तगत राषि रू. 30581.20 लाख का व्यय किया जा चुका है। 

4.    चैनालाइजेषन आॅफ नाला परियोजना: परियोजनांतर्गत भोपाल नगर के पाँच बडे नालों के चैनालाइजेषन का कार्य किया जा रहा है। शाहपुरा नाला, पंचशील नगर नाला, स्लाटर हाउस नाले का चैनालाइजेषन कार्य पूर्ण हो चुका है, जबकि पातरा नाला तथा संजय नगर नाला का चैनालाइजेषन कार्य पूर्णतः की ओर है। परियेाजना अंर्तगत राषि रू 2868.77 लाख का व्यय किया जा चुका है। 

5.    मार्डन लो फलोर बस खरीदी परियोजना: परियोजनांतर्गत 225 मार्डन लो फलोर बसों की खरीदी की जानी है, जिसमें से 205 बसें प्राप्त हो चुकी हैं तथा 12 मार्गो पर चालित की जा रही है। परियेाजना अंर्तगत राषि रू 4667.26 लाख का व्यय किया जा चुका है। 
6.    केबल स्टे ब्रिज कमला पार्क:- जेएनएनयूआरएम योजना अन्तर्गत स्वीकृति बीआरटीएस परियोजना के तहत केबल स्टे ब्रिज कमला पार्क का निर्माण की परियोजना राशिरू. 2734 लाख की भरत सरकार द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई है।
कमला पार्क (आई.टी.सी.पार्क) से डाॅ. शंकर दयाल शर्मा चैराहा तक केबल स्टे के लिए विधिवत निविदा आमंत्रित की जा चुकी है। प्राप्त निविदा की सक्षम स्वीकृति हेतु कार्यवाही प्रचलन में है।  
7.    डेव्हलपमेंट आफ वाक-वे एण्ड साईकल ट्रेक:- जे.एन.एन.यू.आर.एम. योजना अन्तर्गत डेव्हलपमेंट आफ वाक-वे एण्ड साईकल ट्रेक की राशि 1647.12 लाख की योजना की स्वीकृति भारत सरकार द्वारा प्रदान की गई है। 
डेव्हलपमेंट आफ वाक-वे एण्ड साईकल ट्रेक के लिए 13.35 करोड़ की निविदाऐं आमंत्रित की गई है।
8.    बी.आर.टी.एस. परियोजना की सप्लीमेंट्री डी.पी.आर.:- बी.आर.टी.एस. परियोजना की सप्लीमेंट्री डी.पी.आर की राशि रू. 8276 लाख की स्वीकृति भारत सरकार ने प्रदान की है। 

    यूआईजी उप मिषन अंर्तगत परियोजनायें महाराणा प्रताप नगर का विकास कार्य, नया कबाड़खाना क्षेत्र का विकास तथा गैस प्रभावित क्षेत्रों में जल प्रदाय परियोजना विगत वर्ष में पूर्ण हो चुकी हैं।